Fun & Entertainment Unlimited

Sabko Malum Hai Main Sharabi Nahi - Pankaj Udhas


Sabko Malum Hai Main Sharabi Nahi - Pankaj Udhas
Lyrics

सब को मालूम है मैं शराबी नहीं
फिर भी कोई पिलाए तो मैं क्या करूँ
सब को मालूम है मैं शराबी नहीं
फिर भी कोई पिलाए तो मैं क्या करूँ
सिर्फ़ एक बार नज़रों से नज़रें मिलें
सिर्फ़ एक बार नज़रों से नज़रें मिलें
और क़सम टूट जाए तो मैं क्या करूँ
और क़सम टूट जाए तो मैं क्या करूँ
मुझ को मैं खश समझता है सब बड़ा खश
मुझ को मैं खश समझता है सब बड़ा खश
क्यूँ के उनकी तरह लड़खड़ाता हूँ मैं
मेरी रग रग में नशा मुहब्बत का है
मेरी रग रग में नशा मुहब्बत का है
मेरी रग रग में नशा मुहब्बत का है
जो समझ में ना आए तो मैं क्या करूँ
सिर्फ़ एक बार नज़रों से नज़रें मिलें
सिर्फ़ एक बार नज़रों से नज़रें मिलें
और क़सम टूट जाए तो मैं क्या करूँ
और क़सम टूट जाए तो मैं क्या करूँ
हाल सुन कर मेरा सहमे-सहमे हैं वो
हाल सुन कर मेरा सहमे-सहमे हैं वो
कोई आया है ज़ुल्फ़ें बिखेरे हुए
मौत और ज़िंदगी दोनों हैरान हैं
मौत और ज़िंदगी दोनों हैरान हैं
मौत और ज़िंदगी दोनों हैरान हैं
दम निकलने न पाए तो मैं क्या करूँ
सिर्फ़ एक बार नज़रों से नज़रें मिलें
सिर्फ़ एक बार नज़रों से नज़रें मिलें
और क़सम टूट जाए तो मैं क्या करूँ
और क़सम टूट जाए तो मैं क्या करूँ
कैसी लूट कैसी चाहत कहाँ की खता
कैसी लूट कैसी चाहत कहाँ की खता
बेखुदी में हाय अनवर खिदू का नशा
ज़िंदगी एक नशे के सिवा कुछ नहीं
ज़िंदगी एक नशे के सिवा कुछ नहीं
ज़िंदगी एक नशे के सिवा कुछ नहीं
तुम को पीना न आए तो मैं क्या करूँ
सिर्फ़ एक बार नज़रों से नज़रें मिलें
सिर्फ़ एक बार नज़रों से नज़रें मिलें
और क़सम टूट जाए तो मैं क्या करूँ
और क़सम टूट जाए तो मैं क्या करूँ
सब को मालूम है मैं शराबी नहीं
फिर भी कोई पिलाए तो मैं क्या करूँ
फिर भी कोई पिलाए तो मैं क्या करूँ
फिर भी कोई पिलाए तो मैं क्या करूँ
फिर भी कोई पिलाए तो मैं क्या करूँ
स्रोत: Musixmatch

Share :

Facebook Twitter
Back To Top

statcounter

Powered by Blogger.